मूल्यांकन कार्य में लगे शिक्षक पर कार्यवाही करने का आदेश

◆जारी पत्र में 2017 में रिटायर हो चुके शिक्षक का भी नाम है शामिल

रोहतास पत्रिका/सासाराम(डेस्क)। लगातार बारह दिनों से हड़ताल कर रहे शिक्षक-शिक्षिकाओं के वजह से बारहवीं के मूल्यांकन कार्यों में बाधा उत्पन हो रहा है जिसको ध्यान में रखते हुए जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा मूल्यांकन पत्र न लेने वाले शिक्षकों पर कार्यवाही करने के लिए प्रखंड शिक्षक नियोजन इकाई सह प्रखंड विकास पदाधिकारी को लेटर लिख कर मांग किया है। निर्गत पत्र के माध्यम से बताया गया है कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा आयोजित इंटरमीडिएट वार्षिक परीक्षा 2020 के मूल्यांकन के लिए निर्गत किये गए शिक्षक द्वारा हड़ताल पर चले जाने और नियुक्ति पत्र न लेने वाले शिक्षकों पर कार्यवाही करने कि बात कही गयी है। आपको बता दे कि सरकार ने शिक्षकों के हड़ताल को अवैध मानते हुए ये कार्यवाही करने कि बात कही है। लेकिन शिक्षा पदाधिकारी द्वारा बगैर जाँच-पड़ताल किये करहगर प्रखंड के 29 शिक्षकों पर कार्यवाही करने के लिए विज्ञप्ति जारी किया गया है।

जारी विज्ञप्ति में सबसे प्रथम पर मध्य विद्यालय देवखैरा के शिक्षक राजीव रंजन का नाम अंकित है जो कि मूल्यांकन में अपना योग्यदान 26 फरवरी 2020 को शेरशाह सूरी इंटरस्तरीय में दे चुके है। यही नहीं शिक्षा पदाधिकारी द्वार जारी लेटर में क्रमांक 29 पर अंकित मध्य विद्यालय डिभियाँ के शिक्षक कमला पांडेय जो कि 2017 में ही रिटायर कर चुके है। इस सन्दर्भ में रोहतास पत्रिका संवाददाता से बात करते हुए जिला शिक्षा पदाधिकारी प्रेमचंद ने अपना पला झाड़ते हुए कहा कि सभी नाम पटना से जारी किये गए और जब संवाददाता द्वारा उपरोक्त त्रुटियां बताया गया तो उन्होंने बताया कि यह मामला मेरे संज्ञान में नहीं है अगर यैसा है तो जाँच कर दुबारा लेटर जारी किया जायेगा। आपको बता दे की सरकार द्वारा हड़ताली शिक्षकों पर कार्यवाही करने के लिए सभी जिलाधिकारियों को पहले ही लेटर जारी किया गया था जिसपर संज्ञान लेते हुए यह कार्यवाही की गयी है, तथा सरकार इस धरना प्रदर्शन को पूरी तरह से अवैध घोषित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here