टीबी व कोरोना से बचाव के लिए करें मास्क का प्रयोग: रोहतास सीएस

जिले के सभी पीएचसी में मनाया गया विश्व यक्ष्मा दिवस

Rohtas TB Program

रोहतास पत्रिका/सासाराम:

कोरोना एवं टीबी दोनों ही खतरनाक और संक्रमण की बीमारी है इसलिए इन दोनों बीमारियों से खुद के साथ-साथ अन्य लोगों को बचाने के लिए भी मास्क का प्रयोग जरूर करें। यह कहना है रोहतास सिविल सर्जन डॉ सुधीर कुमार का। विश्व यक्ष्मा दिवस पर सासाराम सदर अस्पताल के टीबी विभाग में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विभाग में कार्यरत कर्मियों एवं मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए कहा आज कोरोना से बचाव के लिए जितना आवश्यक मास्क है उतना ही आवश्यक टीबी से बचाव के लिए भी है क्योंकि टीबी बीमारी संक्रमित मरीज के खाँसने से भी फैलता है।इसलिए टीबी संक्रमित मरीज मास्क का इस्तेमाल जरूर करें। इसके साथ ही साथ आम लोग भी मास्क का प्रयोग करेंगे तो टीबी के साथ-साथ कोरोना संक्रमण को रोकने में सहायक साबित होगा। साथ ही साथ इसके इस्तेमाल से धूल से होने वाली एलर्जी को भी कम किया जा सकता।

लोगों को जागरूक करने की जरूरत

सिविल सर्जन डॉ. सुधीर कुमार ने कहा किसी भी समस्या को दूर करने के लिए जन जागरूकता आवश्यक है। टीबी जैसी गंभीर बीमारी को भी जड़ से उखाड़ने के लिए जन जागरूकता अत्यावश्यक है क्योंकि लोग जितना जागरूक होंगे इस पर विजय प्राप्त करना उतना ही आसान होगा। सिविल सर्जन ने कहा कि आज जिले के सभी प्रखंड में टीबी की जांच के साथ साथ इसके लिए नि:शुल्क दवाई भी दी जाती है। जांच के दौरान टीबी से संक्रमित पाए गए मरीजों को सरकार के द्वारा प्रतिमाह 500 दिए जाते हैं ताकि संक्रमित मरीज उससे उचित आहार खरीद कर सेवन कर सकें।

सभी प्रखंडों में चलाया जा रहा है टीबी जागरूकता अभियान

कार्यक्रम में मौजूद जिला संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि टीबी हारेगा देश जीतेगा अभियान को सफल बनाने के लिए 1 मार्च 2021 से ही जिले के सभी प्रखंडों में जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसके अलावा दिवाल लेखन एवं नुक्कड़ नाटक के माध्यम से भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जागरूकता अभियान में स्थानीय जनप्रतिनिधियों का भी सहयोग लिया जा रहा है। इसके अलावा मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा एवं चर्च में भी जागरुकता को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के दौरान लोगों को टीबी बीमारी के लक्षण के बारे में बताया जा रहा है एवं इससे बचाव के भी उपाय बताये जा रहे हैं।

लक्षणों की न करें अनदेखी

जिला संचारी रोग पदाधिकारी डॉ राकेश कुमार ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति में 2 हफ्ते से खांसी की शिकायत है, खांसते समय मुंह से खून आना, अचानक वजन में कमी आना, भूख ना लगना, थकान महसूस होना जैसे लक्षण दिखाई दें तो लोग अनदेखी न करें तुरंत ही नजदीकी अस्पताल में जाकर एक बार टीबी की जांच जरूर करवा लें। मौके पर आदित्य आकाश, ज्ञानेंद्र कुमार (सीनियर लैब टेक्नीशियन), शेखर श्रीवास्तव (डाटा एंट्री ऑपरेटर), मुन्ना सिंह(लैब टेक्नीशियन), सुधा सिंह, प्रियंका कुमारी सहित अन्य मौजूद थे।